Wednesday, October 19, 2011

स्टीव जॉब्स- दुनिया को कैंसर से ऐसा नुकसान शायद न होता अगर...

ऐप्पल डॉट कॉम के मुखपृष्ठ पर सिर्फ उस कंपनी के सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स का चित्र है। उनका इस महीने के सुरू में निधन हो गया। मुखपृष्ठ का चित्र ऐसा है-

इस व्यक्ति को हर अखबार पढ़ने वाला, टीवी देखने वाला व्यक्ति पहचनता है, भले ही उसके पास आईफोन, आईपॉड, आईमैक, आईपैड,... या कोई और 'आई' हो या नहीं। इतनी जल्दी, अपने सबसे ज्यादा प्रोडक्टिव समय में इस व्यक्ति का जाना न्यू मीडिया की दुनिया को कई औजारों से वंचित कर देगा/रहा है, यह तय है। हालांकि और बहुत से लोग एपल से सस्ते, उसी तरह के उत्पाद बना रहे हैं, लेकिन आई में जो बात है (कीमत सहित, जो कि और भी उत्सुकता, ललक पैदा करती है, मेरे जैसे लोगों के मन में, जो उन्हें नहीं खरीद पाते।) वह किसी और में कहां। खैर।

फिलहाल तकनीक की नहीं, स्टीव का जीवन लेने वाली बीमारी कैंसर की बात हो रही है।

ठीक 8 साल पहले, अक्टूबर 2003 में स्टाव जॉब्स को एक खास तरह के पैंक्रियास का कैंसर होने का पता चला, जो कि सर्जरी से ठीक हो सकता था। लेकिन स्टीव ने अपने शाकाहार और प्राकृतिक चिकित्सा पर ज्यादा भरोसा किया और खान-पान के जरिए ही अपने कैंसर का इलाज करने की कोशिश करने लगे।

इस प्राकृतिक खान-पान चिकित्सा में उन्होंने नौ सबसे महत्वपूर्ण, कीमती शुरुआती महीने बर्बाद कर दिए जबकि व्यवस्थित इलाज का बेहतरीन परिणाम उन्हें मिल सकता था। जब आखिर उन्होंने अपना इलाज एलोपैथी पद्यति से कराने का फैसला किया, तब तक उनका कैंसर शरीर में फैल चुका था। जुलाई 2004 में उन्होंने सर्जरी भी करा ही ली। लेकिन बीच के इन नौ महीनों में सर्जरी या कहें, उचित इलाज से भागने का नतीजा यह रहा कि उनकी जिंदगी जरा छोटी हो गई।

कोई गारंटी तो नहीं थी कि वे कैंसर का इलाज कराकर पूरी तरह स्वस्थ हो जाते या उसके साथ ही दसियों साल और जीवित रहते, लेकिन निश्चित रूप से उनका सर्वाइवल लंबा और बेहतर होता। उनकी लंबी जिंदगी पूरी दुनिया के लिए नेमत होती। और अपनी जिंदगी को कौन ज़ाया करना चाहता है? कौन चाहता है कि वह ऐसे बेवक्त मरे?

अब हम स्टीव को सिर्फ अलविदा ही कह सकते हैं।

3 comments:

BS said...

पहले से कुँए, बावड़ी, तालाब, नहर, टंकियां, पाईपलाइन, इरीगेशन सिस्टम वगैरह बनवा लेने के बेशक कई फायदे हैं. पर स्टीव जॉब्स की तरह आग लगने के बाद कुआ खोदना शुरू करना?

और अग्निकांड के बाद उसकी उपयोगिता पर ही सवाल खड़ा करना?

Antioxidants and Cancer Prevention: Fact Sheet - National Cancer ...

www.cancer.gov/cancertopics/factsheet/prevention/antioxidants

Antioxidants interact with and stabilize free radicals and may prevent some of the damage fre. ... National Cancer Institute at the National Institutes of Health ....Antioxidants neutralize free radicals as the natural by-product of normal cell processes... Antioxidants are abundant in fruits and vegetables, as well as in other foods ...

Prevent Cancer - Top Ten Ways To Prevent Cancer Through Exercise

cancer.about.com/od/causes/tp/exercise.htm

14 Nov 2010 – Studies have shown that exercising 30 minutes a day, five days a week can help prevent many cancers. A look into the fun ways to exercise, ...

आर. अनुराधा said...

जी हां, और एंटी-ऑक्सिडेंट्स या 'प्राकृतिक भोजन'तो दसियों कैंसर रोधी उपायों में से सिर्फ एक है। अचछी उपमा दी आपने-आग लगने के बाद कुंए-बावड़ियां खोदना।

Dr. O.P.Verma said...

इसे जरूर पढ़ें। http://flaxindia.blogspot.in/2011/12/budwig-cancer-treatment.html
डॉ. ओ पी वर्मा

Custom Search